Join WhatsApp Group Join Now
Join telegram Chennel Join Now

बदलने वाले हैं ऑनलाइन पेमेंट के नियम, अब नहीं कर पाएंगे ₹2000 से अधिक पेमेंट – Online Payment New Rules 2024

Online Payment New Rules 2024 – भारत सरकार ऑनलाइन भुगतान धोखाधड़ी की बढ़ती चिंताओं से निपटने के लिए डिजिटल भुगतान में अपडेट लाने पर विचार कर रही है। इस परिवर्तन से पहली बार डिजिटल लेनदेन में शामिल होने वाले लोगों के बीच 2000 रुपये से अधिक के लेनदेन के लिए चार घंटे तक की वेटिंग अवधि शुरू हो सकती है।

Online Payment New Rules 2024
Online Payment New Rules 2024

Online Payment New Rules 2024 – अब ऑनलाइन पेमेंट में फ्रॉड होंगे कम

जैसे-जैसे ऑनलाइन भुगतान धोखाधड़ी के मामले सामने आते जा रहे हैं, सरकार अनजान व्यक्तियों को निशाना बनाने वाली साइबर आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए सक्रिय रुख अपना रही है। रिपोर्टें धोखाधड़ी गतिविधियों में वृद्धि का संकेत देती हैं जहां साइबर अपराधी लोगों को धोखा देते हैं और उनके बैंक खातों से अवैध रूप से धन निकालते हैं। प्रतीक्षा अवधि सुरक्षा बढ़ाने और ऑनलाइन बैंकिंग धोखाधड़ी के जोखिम को कम करने के लिए एक रणनीतिक उपाय है।

चार घंटे की वेटिंग विंडो

होने वाले परिवर्तनों के तहत यदि दो लोग पहली बार डिजिटल लेनदेन में शामिल होते हैं और लेनदेन की राशि 2000 रुपये से अधिक हो जाती है तो चार घंटे की प्रतीक्षा अवधि लागू की जाएगी। इसका मतलब यह है कि भुगतानकर्ता चार घंटे की अवधि के लिए भुगतानकर्ता को 2000 रुपये से अधिक की राशि ट्रांसफर नहीं कर पाएगा। इरादा स्पष्ट है – प्रारंभिक डिजिटल लेनदेन के लिए सत्यापन और सुरक्षा का इंतजाम करना।

भुगतान सेवाओं पर पड़ेगा असर

Online Payment New Rules 2024 के तहत होने वाले इन संभावित परिवर्तनों का प्रभाव यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के दायरे से परे तक फैला हुआ है। प्रस्तावित संशोधन अन्य डिजिटल भुगतान विधियों जैसे तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) पर भी लागू होने की उम्मीद है। भुगतान सेवाओं के व्यापक स्पेक्ट्रम को शामिल करके सरकार का लक्ष्य साइबर हमलों के खिलाफ डिजिटल भुगतान सिस्टम को मजबूत करना है।

इसका वर्तमान भुगतान सीमा पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

अभी तक उपयोगकर्ताओं के पास एक निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर हस्तांतरित की जाने वाली राशि की विशिष्ट सीमाएं हैं। उदाहरण के लिए यूपीआई खाता बनाने वाला उपयोगकर्ता शुरुआती 24 घंटों के भीतर केवल 5000 रुपये ही ट्रांसफर कर सकता है। नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) के मामले में सक्रियण के बाद पहले 24 घंटों के भीतर सीमा 50000 रुपये निर्धारित की गई है।

यदि Online Payment New Rules 2024 में प्रस्तावित परिवर्तन लागू होते हैं तो पहली बार किसी के साथ डिजिटल लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ताओं को 2,000 रुपये से अधिक के लेनदेन के लिए चार घंटे की प्रतीक्षा अवधि का सामना करना पड़ेगा। इससे उपयोगकर्ताओं के पास अपने भुगतान पर पुनर्विचार करने, रद्द करने या संशोधित करने के लिए चार घंटे होंगे।

आरबीआई, बैंक और तकनीकी कंपनियां एकजुट होकर करेगी बैठक

स्थिति की गंभीरता को समझते हुए प्रमुख हितधारकों को शामिल करते हुए एक बैठक होने वाली है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई), सार्वजनिक और निजी दोनों बैंक, और Google जैसे प्रमुख खिलाड़ियों सहित प्रौद्योगिकी कंपनियां प्रस्तावित परिवर्तनों पर चर्चा करने के लिए जुटेंगी। यह प्रयास ऑनलाइन भुगतान धोखाधड़ी से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने के लिए एकजुट मोर्चे का प्रतीक है और डिजिटल वित्तीय लेनदेन को मजबूत करने के लिए सामूहिक दृष्टिकोण के महत्व पर जोर देता है।

Join WhatsApp Group Join Now
Join telegram Chennel Join Now

Leave a Comment