Join WhatsApp Group Join Now
Join telegram Chennel Join Now

आधार कार्ड के नियमों में बड़ा बदलाव, अब और भी सुरक्षित होगा आधार – E-KYC Without Aadhaar Number

E-KYC Without Aadhaar Number :- आधार सुरक्षा बढ़ाने और धोखाधड़ी को रोकने के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने एक नई प्रणाली शुरू की है जो संस्थानों को आधार संख्या की आवश्यकता के बिना ई-केवाईसी करने की अनुमति देती है। इसका उद्देश्य संवेदनशील जानकारी की सुरक्षा करते हुए केवाईसी प्रक्रिया को आसान बनाना है।

E-KYC Without Aadhaar Number
E-KYC Without Aadhaar Number

Aadhar KYC Without Number कैसे काम करता है

ई-केवाईसी प्रक्रिया शुरू करने के लिए ग्राहकों को ज़िप फॉर्मेट में एक विशेष XML फ़ाइल जमा करनी होगी। इस फ़ाइल में उनके केवाईसी विवरण शामिल हैं और प्राधिकरण द्वारा डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित है। इसके बाद संस्थान इस फाइल को पढ़कर केवाईसी प्रक्रिया पूरी कर सकता है। इस प्रणाली की विशेषता यह है कि ई-केवाईसी के दौरान आधार संख्या का खुलासा नहीं किया जाता है जिससे सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत जुड़ जाती है।

इसका सबसे बड़ा फायदा आधार जानकारी के साथ छेड़छाड़ का पता लगाने की क्षमता है। केवाईसी डाटा आधार नंबर धारक द्वारा प्रदान किए गए पासकोड के साथ जुड़ा हुआ है जिससे किसी भी अनधिकृत बदलाव की पहचान संभव हो जाती है।

डाउनलोड करनी होगी E-KYC Without Aadhaar Number की फ़ाइल

XML फ़ाइल डाउनलोड करने के लिए यूजर्स को आधिकारिक आधार वेबसाइट पर जाना होगा। अपना आधार नंबर दर्ज करने और ओटीपी के माध्यम से लॉग इन करने के बाद वे आधार डैशबोर्ड तक पहुंचते हैं। यहां वे Offline KYC बटन पर क्लिक करें और पेपरलेस ई-केवाईसी के लिए एक शेयर कोड दर्ज करें। यह कोड गोपनीयता सुनिश्चित करते हुए डाउनलोड की गई ज़िप फ़ाइल के लिए पासवर्ड बन जाता है।

E-KYC Without Aadhaar Number – आधार जानकारी अपडेट कैसे करें

आधार धारक अब माई आधार पोर्टल का उपयोग करके 14 मार्च 2024 तक अपनी जानकारी मुफ्त में अपडेट कर सकते हैं। यह अपडेट ऑनलाइन या आधार केंद्र पर जाकर किया जा सकता है। अपडेट के लिए वैध दस्तावेजों में राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, सरकार द्वारा जारी पहचान पत्र/पता प्रमाण पत्र, भारतीय पासपोर्ट और अन्य शामिल हैं जो पहचान और पते के प्रमाण के रूप में काम करते हैं।

अपडेट के लिए आवश्यक दस्तावेज

पहचान प्रमाण के रूप में पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, सेकेंडरी या सीनियर स्कूल मार्कशीट, सरकार द्वारा जारी पहचान पत्र या प्रमाण पत्र जैसे दस्तावेज़ स्वीकार्य हैं। पते के प्रमाण के लिए बिजली/पानी/गैस बिल (पिछले 3 महीने), बैंक/डाकघर पासबुक, किराया/पट्टा/छुट्टी और लाइसेंस अनुबंध जैसे दस्तावेज वैध माने जाते हैं।

Join WhatsApp Group Join Now
Join telegram Chennel Join Now

Leave a Comment